Nag Panchami 2023 Date हर साल श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाई जाती है। यह त्योहार 12 अगस्त 2023 को मनाया जाएगा. इस दिन नागदेवता की पूजा और आराधना की जाती है.

Nag Panchami का शुभ समय सुबह 5:57 बजे से 8:23 बजे तक रहेगा। इस समय को नागपुरण सुनने, नाग मंदिर के दर्शन करने और नाग मूर्तियों की पूजा करने का शुभ समय माना जाता है।

Nag Panchami के दिन धन प्राप्ति के उपाय भी महत्वपूर्ण हैं। कुछ मुख्य उपाय इस प्रकार हैं:

नाग मूर्ति पूजा – नाग पंचमी के दिन नाग मंदिर जाएं और नाग मूर्ति की पूजा करें। नाग मंदिर के प्रवेश द्वार पर धूप, दीप, फूल और नैवेद्य चढ़ाएं और संस्कार आरती करें।

नाग मंत्र का जाप करें: नाग पंचमी के दिन नाग मंत्र “ओम नाम: शिवाय” या “ओम नमो भगवते वासुकिये नाम:” का जाप करें। इससे नाग देवता का आशीर्वाद मिलता है और धन लाभ होता है।

नागराज की मूर्ति पर चढ़ाएं चादर: नाग पंचमी के दिन नागराज की मूर्ति का श्रृंगार करें और चादर चढ़ाएं। इससे धन और समृद्धि आती है।

नाग पंचमी कब है? जानिए सही तारीख, शुभ मुहुर्त और धन कमाने के उपाय

नाग यज्ञ करें: नाग पंचमी के दिन नाग यज्ञ का आयोजन करें। वह यज्ञ के दौरान नाग मंत्रों का जाप करता है और नागराज की पूजा करता है।

श्रावण सोमवार का व्रत रखें: श्रावण मास के सोमवार का व्रत रखकर भगवान शिव की पूजा करें। इस व्रत से धन, सुख और शांति की प्राप्ति होती है।

Nag Panchami के दिन नाग देवता की पूजा करके हम धन, समृद्धि, सुख, शांति और कुपोषण के अभाव की कामना करते हैं। यह त्यौहार हमें संस्कृति और धार्मिक मूल्यों की याद दिलाता है और साँपों के प्रति सम्मान दर्शाता है।

Nag Panchami 23023 date हर साल श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाई जाती है। यह त्योहार 12 अगस्त 2023 को मनाया जाएगा. इस दिन नागदेवता की पूजा और आराधना की जाती है.
Nag Panchami 23023 date हर साल श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाई जाती है। यह त्योहार 12 अगस्त 2023 को मनाया जाएगा. इस दिन नागदेवता की पूजा और आराधना की जाती है.

Nag Panchami श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाने वाला एक प्रमुख हिंदू त्योहार है। यह अवकाश साँपों की पूजा और सम्मान के लिए समर्पित है। नाग पंचमी देश के विभिन्न हिस्सों में बहुत धूमधाम और उत्साह के साथ मनाई जाती है।

नाग पंचमी का विशेष धार्मिक एवं सांस्कृतिक महत्व है। इस दिन, लोग नाग देवता की पूजा करते हैं और नाग मुद्रा का उपयोग करके उनकी मूर्ति बनाते हैं। माना जाता है कि इस दिन नाग देवता प्रसन्न होते हैं और शुभता और सुरक्षा प्रदान करते हैं।

Nag Panchami  मनाने के लिए, लोग नाग मंदिरों में जाते हैं और नाग देवता की मूर्तियों की पूजा करते हैं। वे दूध आरती, दूध, घी, मिश्री, फूल और अन्य प्रसाद चढ़ाते हैं और नाग मंदिर के प्रवेश द्वार पर संस्कार आरती करते हैं। यह धार्मिक आयोजन प्राकृतिक सौंदर्य और धार्मिक आनंद का मार्मिक अनुभव प्रदान करता है।

Nag Panchami  का एक अन्य महत्वपूर्ण पहलू नाग पंथ है। नागिन पूजा में सांपों की मूर्तियों की भी पूजा की जाती है और उन पर दूध-दूध चढ़ाया जाता है। यह पर्व मातृका एवं शक्ति का प्रतीक है तथा नारी पूजा का साधन है।

Sarkari official

Sarkari update

Leave a Comment