UP: केंद्र सरकार ने गन्ने के उचित और लाभकारी मूल्‍य  मूल्य  में 5 रुपए की बढ़ोत्तरी का ऐलान किया. 

अब गन्ना FRP को 290 रुपए कर दिया गया है

Scribbled Underline
Off-White Arrow
Scribbled Underline

लेकिन उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गन्‍ना किसानों को इसका कोई लाभ नहीं है.

Scribbled Underline
Off-White Arrow
Scribbled Underline

UP में चीनी का कटोरा कहे जाने वाले पश्चिमी यूपी  के किसान सरकार के इस फैसले से खुश नही हैं

Scribbled Underline
Off-White Arrow
Scribbled Underline

दरअसल, भारत सरकार के केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल की घोषणा से पहले ही

Scribbled Underline
Off-White Arrow
Scribbled Underline

उत्‍तर प्रदेश में गन्ने का राज्य समर्थित मूल्य यानी SAP 325 रुपए क्विंटल है.

Scribbled Underline
Off-White Arrow
Scribbled Underline

बागपत और मुजफ्फरनगर के गन्ना किसानों के बीच भारत सरकार के इस घोषणा के प्रति कोई उत्साह नहीं है.

Scribbled Underline
Off-White Arrow
Scribbled Underline

बागपत के तिकोना गांव के बड़े गन्ना किसान संजीव कुमार 100 बीघे में हर साल 10 से 12 लाख रुपए गन्ने की पैदावार करते हैं

Scribbled Underline
Off-White Arrow
Scribbled Underline

लेकिन इसके बाद भी उनकी आर्थिक हालत खराब है. बिजली, डीजल और खाद के बढ़े दाम के चलते गन्ने की एक बीघे की फसल पर 10 से 12 हजार रुपए की भर्ती लग रही है.

Scribbled Underline
Off-White Arrow
Scribbled Underline